educratsweb logo


आईआईटी बाम्‍बे के छात्रों ने कम लागत वाले मैकेनिकल वेंटिलेटर ‘रुहदार’ का विकास किया

डिजाइन इवोवेशन सेंटर, आईयूएसटी पुलवामा ने इसे डिजाइन किया
 

सरकार ने कहा है कि “कोविड-19 के संक्रमण के प्रसार की गति धीमी होनी शुरु हो चुकी है और यह बीमारी नियंत्रण में है।”

स्वास्थ्य मंत्रालय के अनुसार, संक्रमित होने वालों में लगभग 80 प्रतिशत केवल मामूली रूप से बीमार होंगे, लगभग 15 प्रतिशत को ऑक्सीजन की आवश्यकता होगी और शेष 5 प्रतिशत जिनकी हालत गंभीर या नाजुक होगी, उन्हें वेंटिलेटर की आवश्यकता होगी।

इस प्रकार वेंटिलेटर संक्रमित रोगियों के इलाज के लिए आवश्यक चिकित्सा अवसंरचना का एक महत्वपूर्ण घटक है, जो गंभीर रूप से बीमार पड़ने वालों को श्वास लेने में महत्वपूर्ण सहायता प्रदान करते हैं।

इसे देखते हुए सरकार द्वि-आयामी रुख अपना रही है- घरेलू विनिर्माण क्षमता बढ़ाने के साथ-साथ चिकित्सा आपूर्ति के लिए दुनिया भर में खोज की जा रही है। तदनुसार, 25 अप्रैल, 2020 को आयोजित मंत्री समूह की बैठक में दी गई अद्यतन जानकारी के अनुसार घरेलू निर्माताओं द्वारा वेंटिलेटर का निर्माण पहले ही शुरू हो चुका है और नौ विनिर्माताओं के माध्यम से 59,000 से अधिक यूनिट्स के लिए आदेश दिए गए हैं।

इस संदर्भ में, प्रसन्‍नता की बात यह है कि इस संकट की घड़ी में भारतीय आविष्कारशील और रचनात्मक भावना अच्छे परिणाम सामने ला रही है। सीएसआईआर और इसकी 30 से अधिक प्रयोगशालाओं, आईआईटी जैसे संस्थानों और निजी क्षेत्र और सामाजिक संगठनों के अनेक संस्‍थानों सहित पूरा वैज्ञानिक समुदाय विभिन्न समाधानों के साथ सामने आया है, जिनमें से प्रत्येक ने महामारी के खिलाफ हमारी लड़ाई में कुछ न कुछ योगदान दिया है।

आईआईटी बॉम्बे, एनआईटी श्रीनगर और इस्लामिक यूनिवर्सिटी ऑफ़ साइंस एंड टेक्नोलॉजी (आईयूएसटी), अवंतीपोरा, पुलवामा, जम्मू और कश्मीर के इंजीनियरिंग छात्रों की एक टीम रचनात्मक व्यक्तियों का एक ऐसा समूह है जो वेंटिलेटर की आवश्यकता संबंधी समस्या को हल करने के लिए सामने आया। इस टीम ने स्थानीय स्‍तर पर उपलब्ध सामग्रियों का उपयोग करते हुए कम लागत वाला वेंटिलेटर बनाया।

http://164.100.117.97/WriteReadData/userfiles/image/Ruhdaar118Y1.jpg 

टीम ने इसको रूहदार वेंटिलेटर नाम दिया है। इसका जन्‍म इस प्रकार हुआ- प्रोजेक्ट हेड और आईआईटी बॉम्बे के इंडस्ट्रियल डिज़ाइन सेंटर के प्रथम वर्ष के छात्र ज़ुल्कारनैन महामारी के कारण संस्थान बंद हो जाने पर अपने गृहनगर कश्मीर गए थे। महामारी बढ़ने पर ज़मीनी स्थिति का पता चला तो उन्होंने मालूम हुआ कि कश्मीर घाटी में केवल 97 वेंटिलेटर हैं। उन्होंने महसूस किया कि इनकी आवश्यकता इससे कहीं अधिक थी और वेंटिलेटर्स की कमी कई लोगों के लिए प्रमुख चिंता बन गई थी।

इसलिए, ज़ुल्कारनैन ने आईयूएसटी, अवंतीपोरा के अपने दोस्तों पी. एस. शोएब, आसिफ शाह और शाहकार नेहवी और एनआईटी श्रीनगर के माजिद कौल के साथ मिलकर काम किया। आईयूएसटी के डिजाइन इनोवेशन सेंटर (डीआईसी) से सहायता लेते हुए टीम स्थानीय स्तर पर उपलब्‍ध सामग्री का उपयोग करके कम लागत वाले वेंटिलेटर डिजाइन करने में सक्षम रही है। हालांकि उनका प्रारंभिक उद्देश्य एक आजमाए गए और परीक्षण किए गए डिज़ाइन की ही प्रतिकृति तैयार करना था, लेकिन जब उन्होंने इस पर काम करना शुरू किया तो वेंटिलेटर का अपना डिज़ाइन विकसित कर लिया।

जुल्कारनैन कहते हैं, "टीम के लिए इस प्रोटोटाइप की लागत लगभग 10,000 रुपये रही और जब हम बड़े पैमाने पर उत्पादन करेंगे, तो लागत इससे बहुत कम होगी।" उन्होंने कहा कि जहां एक ओर अस्पतालों में उपयोग किए जाने वाले कीमती वेंटिलेटरों का दाम लाखों रुपये होता है, वहीं "रूहदार आवश्यक कार्यात्मकता प्रदान करते हैं जो गंभीर रूप से बीमार कोविड-19 रोगी के जीवन को बचाने के लिए आवश्यक पर्याप्त श्वसन सहायता प्रदान कर सकते हैं।"

अगले चरणों के बारे में चर्चा करते हुए ज़ुल्कारनैन ने कहा, "टीम अब प्रोटोटाइप का मेडिकल परीक्षण कराएगी। स्वीकृति मिलते ही इसका बड़े पैमाने पर निर्माण किया जाएगा। इसे लघु उद्योग द्वारा निर्माण किए जाने के लिए उत्तरदायी बनाए जाने का प्रयास है। टीम उत्पाद के लिए कोई रॉयल्टी नहीं वसूलेगी।”

http://164.100.117.97/WriteReadData/userfiles/image/Ruhdaar2P0PE.jpg

जुल्कारनैन ने कहा कि टीम के समक्ष मुख्य समस्या संसाधनों की कमी थी। टीम ने मैसाचुसेट्स इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी, अमेरिका द्वारा विकसित एक डिजाइन सहित अनेक डिजाइनों को आजमाया। टीम ने अपने संसाधन संबंधी अवरोधों को देखते हुए किफायती डिजाइन प्रस्‍तुत किया। उन्होंने कहा कि डिजाइन को उन्नत सॉफ्टवेयर का उपयोग करके बनाया गया है और टीम इसके परिणामों से संतुष्ट है।

आईयूएसटी के पूर्व छात्र और सिमकोर टैक्‍नोलॉजीस के सीईओ आसिफ, का कहना है, "हमारा इरादा पारंपरिक वेंटिलेटर के स्‍थान पर कम लागत वाले विकल्प को डिजाइन और विकसित करना था। हमारी टीम बुनियादी मापदंडों जैसे टाइडल वॉल्‍यूम, श्‍वास प्रति मिनट और नि:श्‍वसन : श्वास निःसारण संबंधी अनुपात और इसके संचालन के दौरान लगातार दबाव की निगरानी पर नियंत्रण करने में सक्षम रही है।"

http://164.100.117.97/WriteReadData/userfiles/image/Ruhdaar493FF.jpg

समन्वयक, डीआईसी, आईयूएसटी, डॉ. शाहकर अहमद नाहवी ने कहा कि युवाओं की यह टीम जरूरत की इस घड़ी में समाज के लिए उपयोगी योगदान देने की इच्छा से प्रेरित थी। उन्होंने कहा कि वेंटीलेटर इंजीनियरिंग के दृष्टिकोण से कार्यात्मक है, लेकिन इसे चिकित्सा समुदाय द्वारा मंजूरी और सत्यापन की आवश्यकता है।

प्रोफेसर, मैकेनिकल इंजीनियरिंग विभाग, आईयूएसटी डॉ. माजिद एच. कौल ने कहा कि डीआईसी में उपलब्ध घटकों का उपयोग करके कम लागत वाले किफायती वेंटिलेटर का विकास किया गया। प्रोटोटाइप की सफलता में 3-डी प्रिंटिंग और लेजर-कटिंग तकनीक जैसी केंद्र की सुविधाओं ने महत्वपूर्ण भूमिका निभाई। यह सेंटर भारत सरकार के मानव संसाधन विकास मंत्रालय की एक पहल है।

Sources https://pib.gov.in/newsite/PrintHindiRelease.aspx?relid=89764

educratsweb.com

Posted by: educratsweb.com

I am owner of this website and bharatpages.in . I Love blogging and Enjoy to listening old song. ....
Enjoy this Author Blog/Website visit http://twitter.com/bharatpages

if you have any information regarding Job, Study Material or any other information related to career. you can Post your article on our website. Click here to Register & Share your contents.
For Advertisment or any query email us at educratsweb@gmail.com

RELATED POST
1. Fit India Dialogue focuses on the fitness interests of every age group and brings into play different dimensions of fitness: PM
Prime Minister Shri Narendra Modi launched the Age Appropriate Fitness Protocols on the occasion of the first anniversary of the Fit India Movement, via virtual conferencing today. Shri Modi interacted with various sports persons, fitness experts and others during the Fit India Dialogue event organised on the occasion. The virtual dialogue was conducted in a casual and informal manner where the participants shared with the Prime Minister their life experiences and their fitness mantra. 
2. समस्त रोगों की जड़ है रात्रि भोजन
समस्त रोगों की जड़ है रात्रि भोजन किसी भी चिड़िया को डायबिटीज नहीं होती। किसी भी बन्दर को हार्ट अटैक नहीं आता । कोई भी जानवर न तो आयोडीन नमक खाता है और न ब्रश करता है, फिर भी किसी को
3. वैज्ञानिक लहसुन के तेल का इस्तेमाल कर कोविड रोधी दवा बनाने के काम में जुटे
वैज्ञानिक लहसुन के तेल का इस्तेमाल कर कोविड रोधी दवा बनाने के काम में जुटे   मोहाली में बायोटेक्नोलॉजी सेंटर ऑफ इनोवेटिव एंड एप्लाइड बायोप्रोसेसिंग (डीबीटी-सीआईएबी) विभाग ने ऐसी
4. पतंजलि का दावा - बना ली कोरोना की दवा
पतंजलि का दावा - बना ली कोरोना की दवा चीन और अमेरिका के शीत युद्ध से भी बड़ा एक और युद्ध दुनिया में चल रहा है और यह है कोरोना के विरुद्ध दवा ढूंढ कर उसे परास्त करने के प्रयास का युद्ध. इस युद
5. अध्ययन प्रदर्शित करते हैं कि कोविड-19 सेंट्रल नर्वस सिस्टम को प्रभावित कर सकता है जिससे गंध और स्वाद खत्म हो सकता है
अध्ययन प्रदर्शित करते हैं कि कोविड-19 सेंट्रल नर्वस सिस्टम को प्रभावित कर सकता है जिससे गंध और स्वाद खत्म हो सकता है   भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान (आईआईटी),जोधपुर के वैज्ञानिकों ने
6. जो लोग वज़न कम कर रहे हैं, उनके लिए ये है डाइट चार्ट
  वज़न कम करने के लिए डाइट पर खास ध्यान देना होता है। लो-कैलोरीज़ फूड्स के साथ ऊर्जा प्रदान करने वाला आहार भी लें। सुबह से लेकर रात को सोने से पहले तक क्या खाना है, प
7. आईआईटी बाम्‍बे के छात्रों ने कम लागत वाले मैकेनिकल वेंटिलेटर ‘रुहदार’ का विकास किया
आईआईटी बाम्‍बे के छात्रों ने कम लागत वाले मैकेनिकल वेंटिलेटर ‘रुहदार’ का विकास किया डिजाइन इवोवेशन सेंटर, आईयूएसटी पुलवामा ने इसे डिजाइन किया   सरकार ने कहा है कि “कोव
8. (राज्यवार) कोरोना वायरस टेस्टिंग लैबों की सूची देखें
Coronavirus Testing Lab List – भारत में दिन प्रतिदिन कोरोना वायरस के मरीजों की संख्या बढती जा रही है। ऐसे में देखते हुए भारत तथा राज्य सरकार ने अपनी तैयारियों को अधिक दूरस्थ कर लिया है। भारत सरकार द्वारा द
9. घुटन से बचा सकता है मास्क पर इस हर्बल स्प्रे का छिड़काव
घुटन से बचा सकता है मास्क पर इस हर्बल स्प्रे का छिड़काव यह हर्बल डीकन्जेस्टैंट स्प्रे किसी इन्हैलर की तरह काम करता है इसका उपयोग पूरी तरह से सुरक्षित है स्प्रे करने के बाद मास्क का उप
10. Coronavirus Tips: Google ने Doodle बनाकर लोगों से घर में रहने का किया अनुरोध
टेक कंपनी गूगल (Google) काफी समय से कोरोना फाइटर्स को धन्यवाद देने के लिए डूडल बनाती आ रही है। अब इस कड़ी में कंपनी ने एक और डूडल बनाया है, जिसके जरिए लोगों से लॉकडाउन तक घर में रहने की अपील की है। साथ ह
11. सोनी सबवरील मालिका तेनाली रामा मध्‍ये शीर्षक भूमिका साकारणारा अभिनेता कृष्‍णा भारद्वाजने सांगितले आपले फिटनेस गुपित
सोनी सबवरील मालिका तेनाली रामा मध्‍ये शीर्षक भूमिका साकारणारा अभिनेता कृष्‍णा भारद्वाजने सांगितले आपले फिटनेस गुपित तुझ्या मते फिटनेसचा अर्थ काय आहे?
12. सोनी सब के ‘तेनाली रामा’ में मुख्‍य भूमिका निभा रहे कृष्‍णा भारद्वाज ने खोले फिटनेस के राज
सोनी सब के ‘तेनाली रामा’ में मुख्‍य भूमिका निभा रहे कृष्‍णा भारद्वाज ने खोले फिटनेस के राज आपके लिये फिटनेस का क्‍या मतलब है? मेरे लिये फिटनेस का मतलब है स्‍वस्‍
13. स्किल इंडिया ने महामारी के दौरान आवश्यक सेवाओं के लिए 900 सत्यापित पलम्बर की सूची मुहैया कराई है, जो दिशानिर्देशों का पालन करते हुए अपनी सेवा देंगे
स्किल इंडिया ने महामारी के दौरान आवश्यक सेवाओं के लिए 900 सत्यापित पलम्बर की सूची मुहैया कराई है, जो दिशानिर्देशों का पालन करते हुए अपनी सेवा देंगे इंडियन पल्बिंग स्किल्स काउंसिल (आईप
14. All Yoga Asanas Names With Pictures And Benefits in Hindi
अर्ध चन्द्रासन   अर्ध चन्द्रासन जैसा कि नाम से पता च
15. होमियोपैथी की ये दवाएं हैं बड़े काम की है ।
होमियोपैथी की ये दवाएं हैं बड़े काम की है । चाय छोड़ने के लिए - Aresenic 200 गुटखा, तम्बाकु, सिगरेट, बीड़ी छोड़ने के लिए - Phosphorous 200 शराब छोड़्ने के लिए - Sulphur 200 कांच, काँटा, बिच्छु के काटने पर - Sili
16. डायबिटीज (शुगर) के उपचार में - विजयसार (अमृतरस) के चमत्कारिक परिणाम
शुगर की बीमारी जिसे हम सामान्य बोलचाल की भाषा में मधुमेह या डायबिटीज के रुप में भी जानते हैं यह राजरोग के रुप में इन्सानी शरीर में अपनी जडें जमाता है और एक बार शरीर मे
17. Patanjali Product for Health Care
Patanjali Product for Health Care / स्वास्थ्य देखभाल Full List    
18. मधुमेह का अचूक और सफल उपचार क्या है
मधुमेह का अचूक और सफल उपचार क्या है   कुछ ऐसे भी फार्मूले है जिनको बाजार में लाने के बजाय फाइलों में कैद किया गया है इस फार्मूले को कोई दवा कंपनी लेने को तैयार नहीं है क्योंकि जिस पे
19. दाँतों के डॉक्टर के पास क्यों जाएँ?
दाँतों के डॉक्टर के पास क्यों जाएँ?   पुराने ज़माने
20. How To Gain Weight - 10 दिन में 7 किलो वजन कैसे बढ़ाएं How To Gain Weight Fast Health
How To Gain Weight - 10 दिन में 7 किलो वजन कैसे बढ़ाएं How To Gain Weight Fast Health     If your question is how to gain weight, then this video is for you. Ayurveda scholar Sonia Goyal is sharing 2 health tips in Hindi in this video to gain weight fast naturally at home. These weight gain tips are based on traditional Indian health practice of Ayurveda and naturopathy.  
21. चमकी बुखार क्या है?
चमकी बुखार जिसके अंतर्गत दिमागी बुखार से जुड़े वायरस पाए जाते हैं से जुड़े वायरस की अभी तक पहचान नहीं हो सकी है| Chamki Fever अधिकतर 10 साल तक के बच्चो को अपनी चपेट में ले रहा है|एक्यूट इंसेफेलाइटिस स
22. कैंसर और होम्योपथी
कैंसर और होम्योपथी कैंसर नाम सुनते ही मन में डर बैठ जाता हैं, क्योकि कैंसर एक घातक रोग हैं। लाखों लोग हर वर्ष कैंसर के कारण मौत के मुंह में चले जाते हैं। कुछ इलाज न होने के कारण तो कुछ गलत
23 Online and Offline Application Form for admission in class VI, Session : 2020-21 in Netarhat Vidyalaya #Admission 4 Days Remaining for Apply
Online and Offline Application Form for admission in class VI, Session : 2020-21 in Netarhat Vidyalaya Netarhat Awasiya Vidyalaya सत्र 2020-21 में छठा वर्ग में नामांकन हेतु प्रवेश परीक्षा का आवेदन पत्र   नेतरहाट आवासीय विद्यालय सत्र 2020-21 में छठा वर्ग में ...
We would love to hear your thoughts, concerns or problems with anything so we can improve our website educratsweb.com ! visit https://forms.gle/jDz4fFqXuvSfQmUC9 and submit your valuable feedback.
Save this page as PDF | Recommend to your Friends

http://educratsweb(dot)com http://educratsweb.com/content.php?id=1881 http://educratsweb.com educratsweb.com educratsweb