जितिया और जीवित पुत्रिका व्रत कथा - २ चील तथा सियारन का JITIYA & JIVITPUTRIKA VRAT KATHA ( 2 CHILH & SIYARAN KI KATHA ) #EDUCRATSWEB

  • Home
  • Jobs
  • Q&A
  • Register
  • Login

  • जितिया और जीवित पुत्रिका व्रत कथा

    चील तथा सियारन की कथा  :-

    प्राचीन समय की बात है नर्मदा नदी की किनारे एक राज्य था।उस राज्य का नाम कांचनवटी था नाम उस राज्य में एक राजा राज करते थे जिनका नाम मलय केतु था। उसी नर्मदा नदी के एक दिशा में मरू भूमि था। उस मरू भूमि में ही एक विशाल पाकड़ का पेड़ था। उसी पाकड़ पर एक चील रहता था। उसी पेड़ के निचे में एक बड़े धोधैर या बाड़ा सा होल था जिसमे एक सियार भी रहता था। दोनों में बहुत ही घनिष्ट मितत्रता था। 

    एक समय की बात है जब उस नगर की महिलाये नदी में करने आयी तथा वो कुछ पूजा पाठ भी कर रही थी। इन महिलाओ को देख चील ने सियार  पूछा की नगर  सारी महिलाये आज एक साथ नदी में स्नान करने को क्यों एकत्रित हुई है।

    तब सियार ने चील को बताया कि आज अश्विन माह के कृष्णपक्ष की अष्टमी तिथि है और महिलाये अपने पुत्र की लम्बी आयु तथा उनके सलामती के लिए जीवित्पुत्रिका नामक व्रत का संकल्प लेने नदी में आयी है। 

    इस बात को सुन चील  कहा क्या हम भी यह व्रत रख सकते है , तो सियार ने बोला क्यों नहीं। 

    तब चील ने कहा की ठीक है फिर आज हम दोनों भी इस व्रत का संकल्प लेते है। और यह व्रत हम भी संपन्न इन महिलाओ की तरह करेंगे। 

    फिर उन दोनों ने जीमूतवाहन जी की पूजा निर्जला व्रत रखकर किया। परन्तु उसी रात एक अप्रिय घटना घट  गयी।  हुआ  ऐसा की उसी दिन उस नगर के एक बड़े व्यपारी मृत्यु हो गयी। तो उसका दाह - संस्कार करने के लिए उसे उसी मरू भूमि में लाया गया। जब उसको जलाया जा रहा था तभी बारिस सुरु हो गयी जिसकी वजह से लोग उसको अध - जला अवस्था  छोर कर चले गए। 

    यह सब धोधर में बैठा सियार देख रहा था। उसको पहले ही बहुत भूख लग रही थी। यह सब देख उसका भूख और तेज हो गया तब उसने चील से व्रत तोडने को कहा परन्तु चील ने मना कर दिया। 

    कुछ देर बाद फिर सियार ने चील को आवाज देकर कहा।परन्तु ऊपर से कोई आवाज नहीं आयी तो सियार को लगा की वो सो गयी है। उसको सोता जान सियार अपने धोधर से निकल कर उस स्थान पर गया और भर पेट मांस खाया तथा कुछ लेकर भी आया और उसको अपने धोधर में सुबह के लिये रखा यह सब  पेड़ पर बैठा चील देख रहा था।

    परन्तु उसने कुछ नहीं बोला और अपना व्रत विधिवत संपन्न किया। वह आम महिलाओ के भाति सुबह उठकर नदी में स्नान किया तथा महिलाओ द्वारा छूटा हुआ परण सामग्री से अपना व्रत संपन्न किया। इधर वह सियार सुबह में भी उसी मांस को खाया।  धीरे -धीरे समय व्यतीत हुआ।

    मरणोपरांत उनका जन्म इस ही घर में बहन के रूप में हुआ।बड़ी बहन जो की पूर्व जन्म में चील थी उसका नाम सीलवती रखा गया तथा छोटी बहन जो पूर्व जन्म में सियारन थी उसका नाम कर्पूरावती रखा गया ।
    धीरे धीर वो पिता के घर बड़ी होने लगी तथा विवाह का समय निकट आया। तो सिलावती का विवाह  बुद्धिसेन नामक व्यक्ति से संपन्न हुआ तथा छोटी बहन का विवाह उस नगर के राजा मलयकेतु के साथ हुआ।

    सिलावती को पूर्व जन्म में किये गए व्रत के प्रभाव से साथ पुत्र रतन प्राप्त हुए तथा कर्पूरावती के संतान पूर्व कर्म के कारण जन्म लेते  मृत्यु को प्राप्त हुए। इधर बड़ी बहन के सतो पुत्र समय के साथ बड़े हुए और छोटी बहन के ही राज दरवार में नौकरी करने लगे। जिससे ईर्ष्या में भरकर रानी कर्पूरावती ने अपने पति की सहमति से बहन के सतो पुत्र का सर कटवा कर सात थाल में लाल कपड़ो में लपेट कर सिलवाती को भिजवाया।और बहुत खुश हुई।

    परन्तु भगवान जीमूतवाहन ने मिटटी का सर बनाकर सतो के धर से जोड़कर उसपर अमृत चिड़क दिया जिससे सिलावटी  सतो पुत्र राम- राम  खड़े हुए मानो नींद से उठे हो और अपने घर गए। इधर जो सतो  सर था यह नारियल में परिवर्तित हो गया।

     

    जब कोई समाचार नहीं आया तो कर्पूरावती चिंतित हुई तथा समाचार जानने के लिए सेना को सिलावती के घर भेजा वहा सब ठीक देखकर कर्पूरावती को आकर सब बताया। 

    तो उन्हें रहा नहीं गया और अपनी बहन के घर जाकर देखा और पूछा की आपने ऐसा कौन का व्रत या कर्म किया जिससे आपके सरे संतान जीवित है और अपने किये पर मन ही मन पछता रही थी ,

    तो सिलावती जीमुतबाहन व्रत के बारे में बताया तो बहन  कहा इसबार मै भी आपके साथ यह व्रत करुँगी।

    व्रत का दिन आया तो सिलावती ने अपनी बहन को उसी नदी में किनारे ले गयी और पाकड़ के वृक्ष को दिखा कर पूर्व जनम का वृतांत सुनाया । 

    जिसको सुन वह वही मूर्छित हो गयी तथा वही तत्काल  मृत्यु हो गयी। जब राजा को इस बात की सुचना मिली तो उनका दाह संस्कार वही किया।

    educratsweb.com

    Posted by: educratsweb.com

    I am owner of this website. I Love blogging and Enjoy to listening old song. ....
    Enjoy this Author Blog/Website visit http://twitter.com/educratsweb

    if you have any information regarding Job, Study Material or any other information related to career. you can Post your article on our website. Click here to Register & Share your contents.
    For Advertisment or any query email us at educratsweb@gmail.com

    RELATED POST
    1. व्रत व त्यौहार नवंबर 2020
      तिथि (Dates)  दिन (Days) त्यौहार (Festivals) 4 नवंबर  बुधवार  करवा चौथ व्रत, करक चतुर्थी 8 नवंबर  रव
    2. व्रत व त्यौहार अक्तूबर 2020
      तिथि (Dates) दिन (Days)  त्यौहार (Festivals)  2 अक्तूबर  शुक्रवार  महात्मा गाँधी जयन्ती
    3. अगस्त 2020 के व्रत व त्यौहार
      तिथि (Dates) दिन (Days) त्यौहार (Festivals) 3 अगस्त  सोमवार  श्रावण/श्रावणी पूर्णिमा, रक्षा बन्धन क
    4. व्रत व त्यौहार दिसंबर 2020
      तिथि (Dates)  दिन (Days)  त्यौहार (Festivals) 7 दिसंबर  सोमवार  श्रीकालभैरवाष्टमी  14 दिसंबर  स
    5. Nag Panchami Puja Muhurat
    Nag Panchami -25th July 2020 Saturday / शनिवार Nag Panchami on Saturday, July 25, 2020 Nag Panchami Puja Muhurat - 05:39 AM to 08:22 AM Duration - 02 Hours 44 Mins Panchami Tithi Begins - 02:34 PM on Jul 24, 2020 Panchami Tithi Ends - 12:02 PM on Jul 25, 2020 Shukla Paksha Panchami during Sawan month is obser
    6. गुरु पूर्णिमा
    आषाढ़ महीने के शुक्ल पक्ष की अंतिम तिथि यानि कि पूर्णिमा ही गुरु पूर्णिमा के रूप जगत प्रसिद्ध है। गुरु पूर्णिमा वो अवसर है, जिसकी प्रतीक्षा दुनिया के सभी अध्यात्म प्रेमी और आत्मज्ञान के साधक बे
    7. सितंबर 2020 में व्रत व त्यौहार
      तिथि (Dates) दिन (Days) त्यौहार (Festivals)  1 सितंबर  मंगलवार  अनन्त चतुर्दशी व्रत, मेला सोढ़ल-पं
    8. शब-ए-बराअत यानि गुनाहों से बरी होने की रात
    शब-ए-बराअत यानि गुनाहों से बरी होने की रात शब-ए-बराअत यानि बरी (मुक्त) होने की रात, शब यानि र
    9. स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर सम्पूर्ण देशवासियों को हार्दिक शुभकामनाएं
    स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर सम्पूर्ण देशवासियों को हार्दिक शुभकामनाएं Independence Day(india) - 15 August #15August  
    10. हरतालिका तीज 2020 की तारीख व मुहूर्त
    हरतालिका तीज मुहूर्त 2020 में हरतालिका तीज कब है? 21 अगस्त, 2020(शुक्रवार) प्रातःकाल मुहूर्त :05:53:39 से 08:29:44 तक अवधि
    11. Vrat Tyohar in July 2020 : श्रावण का महीना, हरियाली तीज, वरलक्ष्मी समेत ये हैं जुलाई के व्रत त्‍योहार
    Vrat Tyohar in July 2020 : श्रावण का महीना, हरियाली तीज, वरलक्ष्मी समेत ये हैं जुलाई के व्रत त्‍योहार जुलाई का महीना शुरू होने वाला है. इस महीने में देवशयनी एकादशी, हरियाली तीज, नाग पंचमी, मंगला गौरी व्
    12. वट सावित्री व्रत की कथा
    वट सावित्री व्रत की कथा  पौराणिक कथा के अनुसार भद्र देश के राजा अश्वपति के कोई संतान न थी. उन्होंने संतान की प्राप्ति के लिए अनेक वर्षों तक तप किया जिससे प्रसन्न हो देवी सावित्री ने
    13. जितिया और जीवित पुत्रिका व्रत कथा - २ चील तथा सियारन का Jitiya & Jivitputrika Vrat Katha ( 2 Chilh & Siyaran Ki Katha )
    जितिया और जीवित पुत्रिका व्रत कथा चील तथा सियारन की कथा  :- प्राचीन समय की बात है नर्मदा नदी की किनारे एक राज्य था।उस राज्य का नाम कांचनवटी था नाम उस राज्य में एक राजा रा
    14. दिवाली पर्व तिथि व मुहूर्त 2019
    दिवाली पर्व तिथि व मुहूर्त 2019 दिवाली 2019 : 27 अक्तूबर लक्ष्मी पूजा मुहूर्त- 18:42 से 20:11 प्रदोष काल- 17:36 से 20:11 वृषभ काल- 18:42 से 20:37 अमावस्या तिथि आरंभ- 12:23 (27 अक्तूबर) अमावस्या तिथि
    15. Anant chaturdashi 2020: Date, Time, Puja vidhi and Importance
    अनंत चतुर्दशी 2020 : जानें महत्व, शुभ मुहूर्त और पूजा विधि Anant chaturdashi 2020: Date, Time, Puja vidhi and Import
    16. नेपाली महिलाओं ने धूमधाम से मनाया ऋषि पंचमी का पर्व, जानिए कैसे होती है पूजन की शुरुआत
    17. Rath Yatra
    Rath Yatra  - This is a famous temple festival of Orissa held at the Jagannath Temple of Puri. The festival takes place with three chariots or Raths in which the idol of Lord Jagannath, his sister Subhadra and brother Balbhadra is taken out in a procession to their summer temple for a week long festival. The ropes of the chariots or Rathas are pulled by devotees who gather in huge numbers from different places. जगन्नाथ रथ यात्रा भगवा
    18. Gupt Navratri 2020 : गुप्त नवरात्र का आज पहला दिन
    इस बार आषाढ़ मास के गुप्त नवरात्र 22 जून सोमवार से प्रारंभ हो रहे हैं और 29 जून तक चलेंगे। नवरात्रों में षष्ठी तिथि का क्षय है, अर्थात नवरात्र 8 दिन ही होंगे। यही नहीं इस अवधि में सिद्धि योग और वृद्धि
    19. ईद-उल-जुहा का महत्व
    ईद-उल-जुहा का महत्व ईद-उल-जुहा अर्थात बकरीद मुसलमानों का प्रमुख त्योहार है। इस दिन मुस्लिम बहुल क्षेत्र के बाजारों की रौनक बढ़ जाती है। बकरीद पर खरीददार बकरे, नए कपड़े, खजूर और सेवईयाँ खरीदते
    20. When Is Good Friday 2020: कब है गुड फ्राइडे, ईसाई समुदाय में क्यों है ये इतना ख़ास?
    गुड फ्राइडे ईसाई समुदाय के सबसे प्रमुख त्यौहारों में से एक है। इस बार गुड फ्राइडे 10 अप्रैल को मनाया जाएगा। गुड फ्राइडे को कुछ लोग 'होली फ्राइडे' कहते हैं तो कुछ लोग 'ग्रेट फ्राइडे' कहते हैं। अ
    21. जितिया व् जीवित्पुत्रिका व्रत कथा Jitiya or Jivit Putrika Vrat Katha
    जितिया व् जीवित्पुत्रिका:- भारतवर्ष त्योहारों का देश है यहाँ लोग भिन्न-भिन्न भाँति के त्यौहार और उपवास , व्रत में विश्वास रखती है यहाँ लोग कोई भी व्रत और त्यौहारबहुत ही श्रद्धा और संयम
    22. पितृ-पक्ष - श्राद्ध पर्व तिथि व मुहूर्त 2019
    पितृ-पक्ष - श्राद्ध 2019 हिंदू धर्म में वैदिक परंपरा के अनुसार अनेक रीति-रिवाज़, व्रत-त्यौहार व परंपराएं मौजूद हैं। हिंदूओं में जातक के गर्भधारण से लेकर मृत्योपरांत तक अनेक प्रकार के संस्का
    23. महापर्व सतुआनी आज, कल मनेगा जुड़ शीतल पर्व
    आस्था और विश्वास का महापर्व सत्तुआनी आज है, सतुआनी में दाल से बनी सत्तू खाने की परंपरा है. यह पर्व कई मायने में महत्वपूर्ण है. इस दिन लोग अपने पूजा घर में मिट्टी या पित्तल के घड़े में आम का पल्लो स्था
    24. Vat Savitri Vrat 2020
    Vat Savitri Vrat 2020: हिन्‍दू महिलाओं के लिए वट सावित्री वट सावित्री व्रत (Vat Savitri Vrat) का विशेष महत्‍व है. मान्‍यता है कि इस व्रत को रखने से पति पर आए संकट चले जाते हैं और आयु लंबी हो जाती है. यही नहीं अगर दां
    25. Hanuman Jayanti 2020
    भगवान रामचंद्र के परम भक्त श्री हनुमान जी की जयंती पूरे देश में पूरे हर्षोल्लास के साथ मनाई जाती है। हनुमान जी को पूरे भारत में कई नामों से जाना जाता है। कोई इन्हें बजरंगबली कहता है तो कोई इन्हें
    26 Vidhi Rachanakar Vacancy Recruitment by RPSC 2021 #Rajasthan 24 Days Remaining for Apply
    Rajasthan Public Service Commission (RPSC) invites Online application in the prescribed format for the recruitment for the following Sarkari Naukri vacancy of  Vidhi Rachanakar (विधि रचनाकार) for Rajasthan Law and Legal Affairs Department of Rajasthan Government (Advt. No. 07/EP-I/2020-21). Rajasthan PSC recruitment examination requires hard work, dedication, and extensive study. The details of RPSC Vidhi Rachanakar Vacancy Recruitment 2021 are given below. ...
    We would love to hear your thoughts, concerns or problems with anything so we can improve our website educratsweb.com ! visit https://forms.gle/jDz4fFqXuvSfQmUC9 and submit your valuable feedback.
    Save this page as PDF | Recommend to your Friends
    Add FREE Listing to Bharatpages Business Directory
    Read this site in Bengali English Gujarati Hindi Kannada Punjabi Tamil Telugu Urdu or Any other Language Google's cache Page
    January 23 - Historical Events - On This Day
    Subh Shaniwar (Saturday)  IMAGES, GIF, ANIMATED GIF, WALLPAPER, STICKER FOR WHATSAPP & FACEBOOK
    Subh Shaniwar (Saturday)

    Bihar Government Calendar 2021  IMAGES, GIF, ANIMATED GIF, WALLPAPER, STICKER FOR WHATSAPP & FACEBOOK Bihar Government Calendar 2021

    Recent Posts

    Great Republic Day Sale | 20th - 23rd Jan  IMAGES, GIF, ANIMATED GIF, WALLPAPER, STICKER FOR WHATSAPP & FACEBOOK Great Republic Day Sale | 20th - 23rd Jan

    Jobs & Career Engineering Faculty & Teaching Defense & Police UPSC Scholorship Railway IT & Computer SSC Clerk & Steno UGC NET
    Contents News Education General Awareness Government Schemes Admit Card Study Material Exam Result Scholorship DATA Syllabus Contact us
    Explore more Archives Web Archive Register / Login Rss feed Posts Free Online Practice Set Useful Links / Sitemap Photo / Video Search Pincode Best Deal Greetings Recent Jobs Guest Contributor educratsweb Latest Jobs Notification sarkariniyukti.blogspot.com Bharatpages - BUSINESS DIRECTORY IN INDIA - FREE ONLINE BUSINESS LISTING
    Our Blog Bhakti Sangam chitragupta ji maharaj shri shirdi sai baba sansthan

    Great Republic Day Sale | 20th - 23rd Jan
    Great Republic Day Sale | 20th - 23rd Jan

    Guest Post | Submit   Job information   Contents   Link   Youtube Video   Photo   Practice Set   Affiliated Link   Register with us Register login Login
    educratsweb logo
    educratsweb provide the educational contents, Job, Online Practice set for students.
    if you have any information regarding Job, Study Material or any other information related to career. you can Post your article on our website. Click here to Register & Share your contents.
    For Advertisment email us at educratsweb@gmail.com
    Search | http://educratsweb.com/content.php?id=3747