राष्ट्रीय स्वच्छ गंगा मिशन (एनएमसीजी)

राष्ट्रीय स्वच्छ गंगा मिशन (एनएमसीजी)

राष्ट्रीय स्वच्छ गंगा मिशन (एनएमसीजी) राष्ट्रीय गंगा नदी घाटी प्राधिकरण (एनजीआरबीए) का क्रियान्वयन स्कंध है | यह सोसाइटी पंजीकरण अधिनियमन, 1860 के अंतर्गत पर्यावरण और वन मंत्रालय जिसे 12 अगस्त 2011 को एक सोसाइटी के रुप में पंजीकृत किया गया है भारत सरकार कार्य आबंटन नियम 1961 में 360 संशोधन के अनुसार (एनजीआरबीए) और (एन.एम.सी.जी) दोनों जल संसाधन, नदी विकास एवं गंगा संरक्षण मंत्रालय को आबंटित किया गया है। भारत सरकार के जल संसाधन, नदी विकास एवं गंगा संरक्षण मंत्रालय के सचिव, एनएमसीजी परिषद के अध्यक्ष हैं | जैसाकि आर्थिक मामलों संबंधी मंत्रिमंडल समिति (सीसीईए) द्वारा अनुमोदित किया या है, एनजीआरबीए के अधिदेश का क्रियान्वयन राष्ट्रीय स्वच्छ गंगा मिशन (एनएमजीसी) द्वारा किया जा रहा है | राष्ट्रीय स्तर का राष्ट्रीय स्वच्छ गंगा मिशन एक समन्वय निकाय है जिसे उत्तर प्रदेश, उत्तराखण्ड, बिहार और पश्चिम बंगाल राज्य स्तरीय कार्यक्रम प्रबंधन समूहों (एसपीएमजी) द्वारा सहायता प्रदान की जाती है जो सोसाइटी पंजीकरण अधिनियम, 1860 के अंतर्गत पंजीकृत है तथा झारखण्ड में स्थित समर्पित नोडल केंद्र भी इसे सहयोग करता है |

    एनएमसीजी के प्रचालन का क्षेत्र गंगा नदी घाटी होगा जिसमें वे राज्य भी शामिल होंगे जहां से होकर गंगा नदी गुजरती है तथा इसमें राष्ट्रीय राजधानी राज्य क्षेत्र, दिल्ली भी सम्मिलित है | इसके प्रचालन के क्षेत्र में शासी परिषद द्वारा भविष्य में विस्तार, परिवर्तन अथवा परिवर्धन भी किया जा सकता है तथा इनमें ऐसे अन्य राज्य भी शामिल किए जा सकते हैं जहां से होकर गंगा नदी की सहायक नदियां गुजरती हैं, जैसाकि राष्ट्रीय गंगा नदी घाटी प्राधिकरण (एनजीआरबीए) प्रदूषण में कमी करने तथा गंगा नदी के प्रभावी संरक्षण के लिए निर्णय ले |

    भारत सरकार का अपर सचिव एनएमसीजी का महानिदेशक है | एनएमसीजी के समग्र पर्यवेक्षण के अंतर्गत राज्यों में कार्यक्रम को क्रियान्वित करने के लिए राज्य कार्यक्रम प्रबंधन समूहों (एसपीएमजी) के वरिष्ठ अधिकारियों द्वारा की जाती है |

लक्ष्य और उद्देश्य

राष्ट्रीय स्वच्छ गंगा मिशन (एनएमसीजी) के लक्ष्य और उद्देश्य राष्ट्रीय गंगा नदी घाटी प्राधिकरण;एनजीआरबीएद्ध के कार्य संबंधी कार्यक्रमों को क्रियान्वित करना है।


1. समन्वय अंतर क्षेत्रीय व्यापक योजना और प्रबंधन को बढ़ावा देने के लिए एक नदी बेसिन दृष्टिकोण अपनाकर प्रदूषण और गंगा नदी के संरक्षरण के प्रभावी कमी सुनिश्चित करना।
2. पानी की गुणवत्ता और पर्यावरण की दृष्टि से टिकाउ विकास सुनिश्चित करने के उद्देश्य से गंगा नदी में न्यूनतम पारिस्थितिक प्रवाह बनाए रखना।

दृष्टिकोण और मुख्य कृत्य

दृष्टिकोण
गंगा नदी में कोई गैर-उपचारित पालिका मल-व्ययन अथवा औद्योगिक बहि:स्राव प्रवाहित न किया जाए |

मुख्य कृत्य
इस उद्देश्य की प्राप्ति के लिए, एनजीएमसी निम्नलिखित प्रeमुख कृत्यों का निर्वहन करेगा, अर्थात् :
(i) राष्ट्रीय गंगा नदी घाटी प्राधिकरण(एनजीआरबीए) के कार्य संबंधी कार्यक्रम को क्रियान्वित करना |
(ii) विश्व बैंक द्वारा समर्थित गंगा नदी घाटी परियोजना को क्रियान्वित करना |
(iii) गंगा नदी के संरक्षण क्षेत्र में जल संसाधन,नदी विकास एवं गंगा संरक्षण मंत्रालय द्वारा यथानिर्दिष्ट अतिरिक्त कृत्यों अथवा कार्यों को संचालित करना |
(iv) जल संसाधन, नदी विकास एवं गंगा संरक्षण मंत्रालय द्वारा एनजीआरबीए के अंतर्गत संस्वीकृत की गई परियोजनाओं का समन्वय और निगरानी करना |
(v) एनएमसीजी के कार्यों के संचालन के लिए नियम और विनियम बनाना तथा उनमें समय-समय पर नए नियम जोड़ना अथवा उन्हें संशोधित करना अथवा उन्हें अभिलेखित करना |
(vi) धनराशि का कोई अनुदान, ऋण प्रतिभूतियां अथवा किसी भी प्रकार की संपत्ति, स्वीकार करना अथवा उपलब्ध कराना तथा एनएमसीजी के उद्देश्यों से असंबद्ध किसी बंदोबस्ती न्यास, निधि अथवा चंदे का प्रबंधन संचालित अथवा स्वीकार करना |
(vii) ऐसे समस्त कार्य करना अथवा ऐसे कृत्यों का निर्वहन करना जो एनएमसीजी के उद्देश्यों की प्राप्ति के लिए आवश्यक समझे जाएं |

राष्ट्रीय स्वच्छ गंगा मिशन

जल शक्ति मंत्रालय
(जल संसाधन, नदी विकास और गंगा संरक्षण विभाग)

भारत सरकार

पहली मंजिल, मेजर ध्यान चंद नेशनल स्टेडियम,
इंडिया गेट, नई दिल्ली - 110002
☎ टेलीफोन:+91-011-23072900-901
✉ ईमेल आईडी: admn(dot)nmcg(at)nic(dot)in

Website : https://nmcg.nic.in

Contents shared By educratsweb.com
if you have any information regarding Job, Study Material or any other information related to career. you can Post your article on our website. Click here to Register & Share your contents.
For Advertisment or any query email us at bharatpages.in@gmail.com

RELATED POST
  1. Ayushman Bharat is National Health Protection Scheme
  2. Pradhan Mantri Rojgar Protsahan Yojana(PMRPY)
  3. Pradhan Mantri Shram Yogi Mandhan
  4. Dairy Entrepreneurship Development Scheme
  5. Deen Dayal Upadhyaya Gram Jyoti Yojana
  6. How the India Post Payments Bank Differs from Post Office Savings Account
  7. Integrated Rural Development Program
  8. Sampoorna Grameen Rozgar Yojana
  9. Pradhan Mantri Bhartiya Jan Aushadhi PariYojana Kendra (PMBJPK)
  10. BIJU KRUSHAK KALYAN YOJANA
  11. Deen Dayal Upadhyaya Grameen Kaushalya Yojana [DDU-GKY] Scheme
  12. Pradhan Mantri Matru Vandana Yojana (PMMVY)
  13. Unique Disability ID
  14. India BPO Promotion Scheme (IBPS)
  15. Integrated Child Development Services (ICDS)
  16. VOLUNTARY DISCLOSURE OF INCOME SCHEME
  17. Pradhan Mantri Ujjwala Yojana
  18. Standup India
  19. Pradhan Mantri Krishi Sinchayee Yojana
  20. Scheme of Grant in Aid to Voluntary Organisations working for Scheduled Castes
Save this page as PDF | Recommend to your Friends
http://educratsweb(dot)com http://educratsweb.com/content.php?id=699 http://educratsweb.com educratsweb.com educratsweb